प्रिय पाहुन, नव अंशु मे अपनेक हार्दिक स्वागत अछि ।

शुक्रवार, 5 जून 2015

वर्णमाला : आ

बाल कविता-167
वर्णमाला : आ


'आ'सँ आम पाकल
पातमे नुकायल
कौआके देखायल
जखने लोल लागल
धम्म धम्म खसल
आमक राजा फूटल
मालदह आम लूटल
चोभा मारि चूसल
दाबि दाबि गाड़ल
मीठे मीठ लागल
खूब मजा आयल


2 टिप्‍पणियां:

  1. सुन्दर व सार्थक प्रस्तुति..
    शुभकामनाएँ।
    मेरे ब्लॉग पर आपका स्वागत है।

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. धन्यवाद शान्ति गर्ग जी ।आप अपने ब्लाॅग का लिंक दें ।

      हटाएं